Latest Answer Key

● ज़िन्दगी को न करो परेशान, ट्रैफिक नियमो का करो सम्मान। ● सडक दुर्घटना से है अगर बचना, तो हमेशा हेलमेट पहने रहना। ● खुद की लाइफ को अगर है बढ़ाना, हमेशा सुरक्षा नियमो को अपनाना। ● सिर है सबसे नाज़ुक, हेलमेट लगाकर बने जागरूक।

Our Duties and Rights Hindi me

Our Rights and Duties As a Citizen Of India


इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में आपको इतनी फुर्सत भी नहीं मिल पाती कि आप अपने अधिकारों को जान सके। भारतीय संविधान में कई ऐसे कानून है, जिनको जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। इनकी मदद से आप अपने अधिकारों के प्रति सजग रहेंगे।

आज हम आपको उन कानूनो के बारे में अवगत कराएंगे जो शायद आप अभी तक नहीं जानते होंगे। भारत सरकार ने प्रत्येक नागरिक के लिए समान कानून बनायें हैं। इन कानूनों की पूर्ण जानकारी ना होने के अभाव में कई बार आप ठगी का शिकार हो जाते हैं। अब समय बदल चुका है। युवा वर्ग जागरुक हो रहा है, वह अपने हक के लिए कोई पार्टी यह संगठन नहीं बल्कि कानून देखता है।

Our Rights And Duties In Hindi

ऐसे 13 कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को पता होना आवश्यक है।

1. अगर आप किसी कंपनी में भेंट दिए गए तोहफे को स्वीकार करते हैं। तो आप पर कोई भी व्यक्ति रिश्वत लेने का मुकदमा चला सकता है। आजकल कंपनियों में एक परंपरा सी हो गई है कि कर्मचारियों को त्यौहार और उत्सव पर गिफ्ट प्रदान किया जाए। सरकार द्वारा इस तरह की परंपरा को खत्म करने के लिए 2010 में एक कानून बनाया गया। और इस कानून के अनुसार अगर आप किसी कंपनी से किसी भी प्रकार का तोहफा लेते हैं। तो उसे रिश्वत समझा जाएगा और आप पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

2. अगर किसी महिला को पुलिस गिरफ्तार करने आती है। तो उनके साथ महिला पुलिस का होना बेहद जरूरी है। अगर किसी स्थिति में गिरफ्तार करने आई पुलिस के साथ महिला कॉन्स्टेबल नहीं है, तो आप पुलिस को साफ साफ मना कर सकती हैं कि महिला पुलिस के बिना आप मुझे गिरफ्तार नहीं कर सकते।

अगर किसी भी महिला को पुलिस पुरुष अधिकारी द्वारा गिरफ्तार किया जाता है। तो यह अपराध माना जाएगा और ऐसे पुलिस अधिकारी पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। किसी महिला को रात के 6:00 बजे से लेकर सुबह के 6:00 बजे के समय के बीच पुलिस स्टेशन आने के लिए कहा जाता है। तो इस स्थिति में महिला को यह अधिकार है कि वह पुलिस स्टेशन आने से साफ मना कर सकती है।

3. आपने गैस सिलेंडर का नया कनेक्शन लिया है। और बाद में किसी कारणवश इसमें विस्फोट हो जाता है। तो आपको 40000 रुपए तक का मुआवजा मिल सकता है। यह हर व्यक्ति का कानूनी अधिकार है।

4. इनकम टैक्स अधिकारियों या कर वसूल करने वाले अधिकारियों के पास आपको गिरफ्तार करने का भी अधिकार होता है। अगर आपने अपना टैक्स जमा नहीं करवाया है तो TRO टैक्स रिकवरी ऑर्गेनाइजेशन के पास आप को गिरफ्तार करने का पूर्णतया अधिकार होता है। उनकी मर्जी से ही आप जेल से छूट सकते हैं। इस नियम का उल्लेख वर्ष 1961 के इनकम टेक्स एक्ट में किया गया है।

Our Rights And Duties In India

5. कोई भी मोटर व्हीकल एक्ट साइकिल चलाने वालों पर लागू नहीं होता है। अगर आप रोजाना ऑफिस में साइकिल से जाते हैं तो आपको मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि यह एक्टर साईकिल रिक्शा के ऊपर लागू नहीं होता।

6. महिलाएं पुलिस को ईमेल के माध्यम से शिकायत कर सकती है। हाल ही में दिल्ली पुलिस ने यह नियम लागू किया है, कि कोई भी महिला घर बैठे हुए अपनी शिकायत दर्ज करवा सकती है। इसके लिए उसे पुलिस स्टेशन आने की कोई जरूरत नहीं है।

7. राजनीतिक दलों के पास चुनाव के समय आपसे आपकी इच्छा से वाहन किराए पर लेने का अधिकार होता है। अगर आप अपना वाहन किराए पर देने के लिए तैयार हैं। तो चुनाव पार्टी के द्वारा आपको और आपके वाहन का किराया देना पड़ेगा। इसके लिए आप किराए की मांग कर सकते हैं

8. किसी भी वस्तु को आप अधिकतम खुदरा मूल्य मैक्सिमम रिटेल प्राइस से अधिक कीमत में बेच नहीं सकते। लेकिन आप इस कीमत से कम में खरीद सकते हैं। अगर किसी वस्तु का मूल्य 100 रुपए है तो आप मोल भाव करके इसे 90 में भी खरीद सकते है।

9. अगर कोई व्यक्ति आपसे काम लेकर या आपके पैसे उधार लेकर उनका भुगतान नहीं करता तो आप अदालत में उस व्यक्ति के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। भारतीय अधिनियम के अनुसार अगर कोई आपको भुगतान नहीं दे रहा तो आप उस व्यक्ति के खिलाफ एक एप्लीकेशन लिख कर अदालत में पेश कर सकते हैं ।यह शिकायत आप पैसे देने के 3 साल के भीतर ही कर सकते हैं यह आपका कानूनी अधिकार होता है।

About Our Rights And Duties

10. अगर आप किसी पब्लिक प्लेस पर अश्लील गतिविधियां करते हैं तो आपको 3 महीने की सजा हो सकती है।

11. पुलिस का हेड कांस्टेबल किसी ऐसे अपराध के लिए आपको दंड नहीं दे सकता जिसका जुर्माना 100 रुपए से अधिक हो।अगर आपने किसी नियम को तोड़ने पर चालान कटवाया है। तो ऐसी स्थिति में आपका दोबारा चालान नहीं कटेगा मतलब एक ही दिन में आपके द्वारा उसी नियम को तोड़ने पर दो बार चालान नहीं काटा जाता।

12. वर्ष 1861 में बने पुलिस एक्ट के अनुसार भारत के हर राज्य का पुलिस अधिकारी हमेशा छुट्टी पर रहेगा। अगर आधी रात को भी कोई घटना घट जाती है। तो पुलिस को यह कहने का अधिकार नहीं है, कि वह ड्यूटी पर नहीं है। क्योंकि इस एक्ट के तहत एक पुलिस वाला बिना वर्दी में भी ड्यूटी पर होता है।

13. वर्ष 1956 में बने हिंदू और रखरखाव अधिनियम के तहत हिंदू धर्म का व्यक्ति के पास एक बच्चा है तो आप दूसरा बच्चा गोद नहीं ले सकते। अगर आपके पास कोई भी बच्चा नहीं है तो आप वह यह बच्चा गोद ले सकते हैं जिसकी उम्र और आपकी उम्र का अंतर 21 वर्ष हो।

No comments